1 लाख से ज्यादा लोगों के GST रजिस्ट्रेशन करेगी कैंसिल सरकार का बड़ा फैसला


GST चोरी रोकने के सरकार कई कदम उठाने जा रही है. इसी के तहत सरकार ने एक निर्णायक कदम उठाने का फैसला किया है. सरकार ऐसे करीब 11 लाख से ज्यादा GST रजिस्ट्रेशन (GST Registration) को कैंसिल कर सकती है जिन्होंने 6 बार या 6 बार से ज्यादा GST रिटर्न (GST Return) नहीं भरा है. दरअसल सरकार को करीब 10-12 हजार करोड़ रुपए का चुना लगा चुके हैं GST चोरों ने. इसलिए सरकार कोई भी लूप होल छोड़ना नहीं चाहती है.

बिना सप्लाई के क्रेडिट क्लेम करने की मोडस ऑपरेंडी वैट और एक्साइज रिजीम जैसी होने से जीएसटी के फूलप्रूफ होने के दावों पर भी सवाल उठने लगे हैं. यह आशंका भी जताई जा रही है कि पकड़ में आ रहे मामले वास्तविक फ्रॉड का 10-15% ही हैं.

GST रजिस्ट्रेशन के जरिए फेक बिलिंग की गई, फेक इनवॉइसिंग की गई जिसके जरिए इनपुट टैक्स क्रेडिट हासिल की गया. सरकार को इस बात की आशंका है की बिना बिल कई तरह से समानों की सप्लाई की जा रही है. इसी तरह से GST चोर सरकार को चुना लगा रहे हैं. इसलिए सरकार उन GST रजिस्ट्रेशन को कैंसिल करने जा रही हैं जिनको रिटर्न भरने के लिए यूज नहीं किया जा रहा है.


पिछले साल इतने हजार करोड़ जीएसटी फ्रॉड पकड़े गए
पिछले साल करीब 38000 करोड़ के जीएसटी फ्रॉड पकड़े गए थे, जिनमें 11,251 करोड़ के मामले सिर्फ फेक बिलिंग के जरिए क्रेडिट क्लेम के थे. मौजूदा वित्त वर्ष के सात महीनों में ही 8000 करोड़ से ज्यादा बोगस बिलिंग पकड़े जाने का अनुमान है.


20 फीसदी जीएसटी रजिस्टर्ड कारोबारी नहीं भरते रिटर्न
इस समय देश में 1.20 करोड़ के करीब जीएसटी रजिस्ट्रेशन हैं, जिसमें से करीब 20 फीसदी ऐसे हैं जोकि नॉन-फाइलर हैं. यानी वे जीएसटी रिटर्न नहीं भरते हैं.