अशोक खेमका 50वीं बार तबादला पर बोले :ईमानदारी का ईनाम जलालत है


आईएएस अधिकारी के तौर पर अपने करियर में करीब 50 बार तबादला किये गये अशोक खेमका ने अपनी नयी तैनाती पर बुधवार को तीखी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि 'ईमानदारी का ईनाम जलालत है।'


 

हरियाणा सरकार ने बुधवार को खेमका सहित 14 आईएएस अधिकारियों का तबादला आदेश जारी किया।

 

भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के 1991 बैच के अधिकारी ने ट्वीट किया, ''फिर तबादला। लौट कर फिर वहीं।'' उन्होंने कहा, ''कल संविधान दिवस मनाया गया। आज उच्चतम न्यायालय के आदेश एवं नियमों को एक बार और तोड़ा गया। कुछ प्रसन्न होंगे। अंतिम ठिकाने जो लगा।''

 

उन्होंने कहा,''ईमानदारी का ईनाम जलालत।''

 

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक खेमका हरियाणा के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग में मार्च में प्रधान सचिव के पद पर नियुक्त किये गये थे। उनका अगला कार्यभार प्रधान सचिव, अभिलेख, पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग है।

 

भाजपा-जननायक जनता पार्टी सरकार के करीब एक महीने पहले सत्ता में आने के बाद से यह पहला बड़ा प्रशासनिक फेरबदल है।

 

तबादले तत्काल प्रभाव से प्रभावी हो जाएंगे।

 

खेमका 2012 में चर्चा में आये थे, जब उन्होंने कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के दामाद राबर्ट वाड्रा से संबद्ध स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी और रियल एस्टेट कंपनी डीएलएफ के बीच हुए भूमि सौदे के दाखिल खारिज को रद्द कर दिया था।