इस इत्र के दीवाने हुए लोग, जानें क्या है इसमें खास









 


 


प्रगति मैदान में आयोजित हो रहे व्यापार मेले में कन्नौज की मिट्टी की महक लोगों को खूब पसंद आ रही है। मिट्टी की महक वाली यह इत्र 25 हजार रुपये लीटर तक बिक रही है। इसे उत्तर प्रदेश पवेलियन में गोविंद चोरसिया बेच रहे हैं। लोग गुलाब से अधिक इस मिट्टी की महक के लिए बेताब हैं।


व्यापार मेले में मिट्टी के इत्र की मांग को लेकर कन्नौज से इत्र बेचने आए गोविंद चोरसिया कहते  हैं कि अमूमन लोग खुशबू के लिए गुलाब समेत अन्य इत्रों की मांग करते हैं। लेकिन, जैसे ही लोगों को पता चलता है कि हमारे पास मिट्टी का इत्र भी है तो लोग इसकी मांग कर रहे हैँ। जिसके तहत हम उनके हाथों में यह इत्र लगाकर उन्हें मिट्टी की सौंधी खूशबू से रू-ब-रू करवा रहे हैं , जिससे महसूस करने के बाद लोग बड़ी संख्या में इसे खरीद भी रहे हैँ।


जिसकी कीमत हमने 200 रुपये में 8 मिली रखी हुई है। मिट्टी के इत्र को तैयार करने की विधि को तैयार करने के बारें में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि सामान्य मिट्टी के प्रयोग से यह इत्र तैयार किया जाता है, जिसके तहत मिट्टी को पकाया जाता है, जिसकी भांप को एक जगह इकट्ठा किया जाता है, जिसे इत्र तैयार किया जाता है। एक बार मिट्टी को 10 से 15 दिन पकाने के बाद इत्र तैयार होता है।


व्यापार मेले में पहुंचे रिकार्ड 45 हजार से अधिक लोग
रविवार को अवकाश वाला दिन होने की वजह से व्यापार मेला गुलजार रहा, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। आलम यह रहा है कि सभी राज्यों के पवेलियन से लेकर  अन्य सभी स्टॉल दिन भर भरे नजर आए और लोगों ने जमकर खरीददारी की।


आईटीपीओ के अधिकारियों के अनुसार रविवार को 45 हजार से अधिक लोगों ने मेले में शिरकत की, जो इस साल आयोजित हुए व्यापार मेले में अन्य किसी भी दिन की तुलना में सबसे अधिक थी।


वहीं अन्य जानकारी के अनुसार व्यापार मेले में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आईटीपीओ प्रशासन को विशेष इंतजाम करने पड़े, जिसके तहत 4 बचे के बाद टिकट ब्रिक्री पर रोक लगा दी गई।