पीआरवी पर यूपी 100 की जगह अब यूपी 112 का नंबर अंकित होगा।


पुलिस रिस्पांस व्हीकल (पीआरवी) अब बदले लुक में नजर आएगी। इसके लिए तैयारी शुरू कर दी गई है।


26 अक्तूबर से यूपी में पुलिस मदद के लिए 100 की जगह 112 नंबर को प्रभावी तौर पर लागू कर दिया गया हैै। लेकिन अभी तक पीआरवी पर आपातकाल की स्थिति में मदद के लिए 100 नंबर डायल करना ही लिखा हुआ है। इसे बदलने के लिए शासन स्तर से निर्देश जारी हो चुके हैं। जनपद मे चार पहिया पीआरवी के 80 वाहन हैं जबकि 16 दोपहिया पीआरवी हैं। जो कि किसी भी सूचना पर मौके पर पहुंचती हैं। 

एसपी सिटी अमित कुमार आनंद ने बताया कि यूपी में पहले 100 नंबर डायल करने पर पुलिस की मदद मिलती थी लेकिन 112 नंबर डायल करने के बाद अब पुलिस के साथ ही एंबुलेंस, फायर ब्रिगेड, चाइल्ड लाइन, वूमेन हेल्पलाइन की मदद मिलेगी। सभी इमरजेंसी नंबर अब 112 से जोड़ दिए गए हैं, जनता को अलग अलग नंबर पर फोन नहीं करना पडे़गा। ऐसा करने से फोन करने वाले व्यक्ति के पास जरूरी मदद जल्द ही पहुंचेगी। 

जनपद में कार्यरत सभी पीआरवी का लुक बदलकर जल्द ही उन पर 112 नंबर अंकित किया जाएगा। जिससे की लोगों को 112 नंबर के प्रति जागरूक किया जा सके, जागरूकता न होने के कारण अभी 100 नंबर पर ही अधिकतर फोन आ रहे हैं। इस वजह से ही 100 नंबर को अभी चालू रखा गया है और सूचना मिलने पर कार्रवाई की जाती है।

औसतन 9 मिनट में पहुंचती है पीआरवी
मुरादाबाद। एसपी सिटी ने बताया कि पीआरवी के आने से पुलिस की छवि में काफी सुधार हुआ है। पहले पुलिस की टीम को घटनास्थल पर पहुंचने पर काफी समय लगता था लेकिन अब कंट्रोल रूप में सूचना मिलने के बाद शहरी क्षेत्र में 15 मिनट के अंदर देहात के अंदर 20 मिनट में पीआरवी को पहुंचने के निर्देश है। लेकिन कंट्रोल रूम में सूचना मिलने के बाद जिले में अब औसतन नौ मिनट के अंदर पुलिस की टीम मौके पर पहुंच रही है।