प्रधानमंत्री ने डाल्‍टनगंज में अपनी पहली चुनावी रैली को संबोधित किया


प्रधानमंत्री ने सोमवार को झारखंड के डाल्‍टनगंज में अपनी पहली चुनावी रैली को संबोधित किया। झारखंड की जनता को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कश्‍मीर के  और अयोध्‍या विवाद की ओर इशारा करते हुए कहा कि बीजेपी जो वादे करती है उन्‍हें पूरा करती है, जबकि बाकी दल समस्‍याओं को लटकाए रखकर अपना वोट बैंक साधते हैं। इससे पहले 21 नवंबर को झारखंड में हुई अपनी पहली चुनावी सभा में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी  राम मंदिर का जिक्र किया था।


पीएम मोदी ने कहा, 'बीजेपी ने जो भी वादे और ऐलान किए हैं, उन्‍हें हम एक के बाद एक जमीन पर उतार रहे हैं चाहे वे कितने मुश्किल रहे हों। दूसरों के पास समस्‍याएं हैं हमारे पास समाधान हैं।' मोदी ने आगे कहा, 'कांग्रेस के काम करने का तरीका समस्‍याएं टालने और उन पर वोट मांगने का रहा है। कांग्रेस ने इसीलिए आर्टिकल 370 का मसला लटकाए रखा। भगवान राम की जन्‍मभूमि का विवाद भी इन लोगों ने दशकों से लटकाया हुआ था। कांग्रेस चाहती तो समाधान निकाल सकती थी लेकिन उसने ऐसा न करके अपने वोट बैंक की परवाह की। देश और समाज का नुकसान किया।'


प्रदेश में सत्‍तारूढ़ बीजेपी सरकार का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, ' बीजेपी सरकार ने नए झारखंड के लिए सामाजिक न्याय के पांच सूत्रों पर काम किया है। पहला सूत्र है- स्थिरता, दूसरा सूत्र है- सुशासन, तीसरा सूत्र है- समृद्धि, चौथा सूत्र है- सम्मान और पांचवां सूत्र है- सुरक्षा।' नरेंद्र मोदी का कहना था कि बीजेपी ने झारखंड को स्थिर सरकार दी है। झारखंड में भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिए दिनरात काम किया है और पारदर्शी व्यवस्थाएं बनाई हैं। इस तरह बीजेपी ने झारखंड में समृद्धि का मार्ग खोला है।