सैमसंग करेगा 1,200 इंजीनियरों की भर्ती


एक तरफ जहां अर्थव्यवस्था में सुस्ती का माहौल हैं और बड़ी आईटी कंपनियों में छंटनी का दौर चल रहा है वहीं, सैमसंग 1,200 इंजीनियरों की भर्ती करने जा रही है। सैमसंग ने बुधवार को कहा कि अपने रिसर्च एंड डेवलपमेंट डिपार्टमेंट में आईआईटी, एनआईटी और आईआईएसी जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों से इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स की भर्ती करेगी।



सैमसंग अपने बेंगलुरु, नोएडा और दिल्ली के रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेंटर्स के लिए इंजीनियरों की भर्ती करेगी और ये इंजीनियर आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, मशीन लर्निंग, डीप लर्निंग, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, रिकग्निशन सिस्टम्स, डेटा एनालिसिस, ऑन डिवाइस एआई, मोबाइल कम्युनिकेशंस, नेटवर्क्स और यूजर इंटरफेस तथा यूजर एक्सपीरिएंस के क्षेत्र में काम करेंगे।

सैमसंग विभिन्न विषयों जैसे कंप्यूटर साइंस, इलेट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशंस, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, मैथेमैटिक्स एंड कंप्यूटिंग, इंस्ट्रूमेंटेशन एंड इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के विद्यार्थियों को नौकरियां देगी। यह बात सैमसंग ने अपने बयान में कही है।

सैमसंग इंडिया के हेड (ह्यूमन रिसोर्स) संदीप वधावन ने कहा कि इस साल हम 1,200 इंजीनियरों की भर्ती करने की योजना बना रहे हैं और पहले ही 340 प्री-प्लेसमेंट ऑफर्स आईआईटी और अन्य शीर्ष संस्थानों को दे चुके हैं। इस साल सैमसंग दिल्ली, कानपुर, मुंबई, चेन्नई, गुवाहाटी, खड़गपुर, बीएचयू, रूड़की, पल्लकड़, तिरुपति, इंदौर, गांधीनगर, पटना, भुवनेश्वर, मंडी, जोधपुर और भिलाई के आईआईटी से इंजीनियरों की भर्ती करने वाली है। इसके अलावा, कंपनी बीआईटीएस पिलानी, आईआईआईटी, नेशनल इंस्टीट्यूट्स ऑफ टेक्नोलॉजी, दिल्ली टेक्नोलॉजिकल इंस्टीट्यूट, मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंसेज बेंगलुरु से भी भर्तियां करेगी।

वधावन ने कहा कि हमारे पास फिलहाल कुल मिलाकर 70,000 से अधिक लोग काम कर रहे हैं और अगर हम विशेष तौर पर रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेंटर्स के बारे में बात करें तो हमारे पास हमारे तीन केंद्रों में काम करने वाले 9,000 लोग हैं।