सैनिक स्कूलों में बेटियों भी ले सकेंगी एडमिशन; शुरू हुई प्रक्रिया


सैनिक स्कूल में पढ़कर देश की सेवा करने और अधिकारी बनने का सपना देखने वाली बेटियों के लिए खुशी की खबर है। रक्षा मंत्रालय ने देश के पांच सैनिक स्कूलों में अब लड़कियों के लिए भी एडमिशन प्रक्रिया शुरू कर दी है। इनमें चंद्रपुर (महाराष्ट्र), बीजापुर (कर्नाटक), कोडागु (कर्नाटका), कलिकिरी (आंध्र प्रदेश) और घोड़ाखाल (उत्तराखंड) स्थित सैनिक स्कूल शामिल हैं। अब यहां कक्षा छह में लड़कियां भी एडमिशन ले सकेंगी। जिसके लिए प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और आवेदन करने के लिए छात्रों के पास 06 दिसंबर, 2019 तक का समय है। वहीं प्रवेश परीक्षा का आयोजन 05 जनवरी, 2020 को किया जाएगा।


पहले सिर्फ बालकों को मिलता था एडमिशन


अब तक सैनिक स्कूलों में सिर्फ बालकों को ही दाखिला दिया जाता था लेकिन अब बालिकाओं के लिए भी यहां एडमिशन लेने के लिए रास्ता साफ हो गया है। जो बेटियां सैन्य अधिकारी बन देश की सेवा करने का सपना देखती थीं अब वो भी यहां एडमिशन ले सकेंगी। बता दें कि पिछले साल भी बालिकाओं को सैनिक स्कूल में दाखिला देने का रास्ता खुला था लेकिन फिर छात्रावास समेत अन्य व्यवस्थाएं ना होने के कारण एडमिशन नहीं मिल सका। अब 2020-21 सत्र में छात्राओं के एडमिशन का रास्ता साफ हो गया है। स्कूलों में छात्राओं के अध्ययन संबंधी सभी क्रियाकलाप लगभग पूरे कर लिए गए हैं।


ऑल इंडिया सैनिक स्कूल एंट्रेंस एग्जाम (All India Sainik School Entrance Exam- AISSEE) के जरिए छात्रों को सैनिक स्कूल में कक्षा 06 और कक्षा 09 एडमिशन दिया जाता है। कक्षा में दाखिले के लिए छात्र की उम्र10 से 12 साल होनी चाहिए जबकि कक्षा 09 में एडमिशन के लिए छात्र की उम्र 13 से 15 साल तय की गई है। तो जो छात्र सैनिक स्कूल में एडमिशन लेना चाहते हैं वो आधिकारिक वेबसाइट sainikschooladmission.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।


सैनिक स्कूल में एडमिशन के लिए छात्रों को रजिस्ट्रेशन फीस बी जमा करनी होगी। सामान्य वर्ग के छात्रों के लिए 400 रुपये और डिफेंस कैटेगरी और आरक्षित छात्रों के लिए 250 रुपये रजिस्ट्रेशन शुल्क तय किया गया है। बता दें कि एंट्रेंस परीक्षा ओएमआर आधारित होगी।


घोड़ाखाल में कक्षा 06 में ही ले सकेंगी दाखिला


उत्तराखंड के घोड़ाखाल सैनिक स्कूल में इस साल बालिकाओं को इस सत्र में सिर्फ कक्षा 06 में ही एडमिशन दिया जाएगा। कक्षी 06 में 65 सीटें हैं और कक्षा 09 में 20 सीटें हैं। 65 सीटों में से 07 सीटें बालिकाओं के लिए रिजर्व की गई हैं। प्रधानाचार्य कर्नल डॉ. स्मिता मिश्रा ने बताया कि रक्षा मंत्रालय से बालिकाओं के दाखिले की मंजूरी मिल गई है। प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन शुरू हो गए है। अंतिम तिथि छह दिसंबर है। पांच जनवरी को उत्तराखंड के 15 सेंटर्स में प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाएगी।


पहले क्या था सैनिक स्कूल में एडमिशन नियम


सैनिक स्कूल में ऑल इंडिया सैनिक स्कूल एंट्रेंस एग्जाम के जरिए कक्षा 06 और कक्षा 09 में दाखिला दिया जाता था। अब तक सिर्फ लड़के ही इस परीक्षा में शामिल होकर सैनिक स्कूल में दाखिला पा सकते थे। प्रवेश परीक्षा ओएमआर आधारित होती है, जिसमें छठी कक्षा में लिखित परीक्षा 300 अंकों की और नौवीं कक्षा के लिए 400 अंकों की होती है।