चीन लगातार भारत के पड़ोसी देशों के साथ अपनी दोस्ती गांठने में जुटा

 

चीन लगातार भारत के पड़ोसी देशों के साथ अपनी दोस्ती गांठने में जुटा हैै। श्रीलंका के बाद उसने नेपाल में भी कई विकास कार्य अपने हाथों में लिए हैं। इन्हीं में से एक है नेपाल हवाई अड्डे पर रनवे का पुनर्निर्माण। चीन ने देश के एकमात्र अंतरराष्ट्रीय त्रिभुवन हवाई अड्डे के रनवे पुनर्निर्माण का काम महज 128 दिनों में पूरा कर लिया है।
 

एक समारोह के दौरान नेपाल के संस्कृति, नागरिक उड्डयन विमानन मंत्री योगेश भट्टराई ने नेपाल में चीनी कंपनी का आभार जताया, समारोह में मंत्री और राजदूत के अलावा उच्चाधिकारी भी मौजूद थे। चीनी कंपनी नेशनल एयरो टेक्नालॉजी इंटरनेशनल इंजीनियरिंग कॉर्पोरेशन ने इस समारोह के दौरान यह काम नेपाल के सुपुर्द कर दिया।

सुपुर्दगी समारोह में भट्टराई ने कहा कि इससे नेपाल-चीन के आपसी रिश्ते और प्रगाढ़ होंगे। मंत्री ने कहा कि इससे अगले वर्ष नेपाल 2020 में पर्यटन क्षेत्र में मदद मिलेगी और बीस लाख विदेशी सैलानियों का स्वागत करने के लिये नेपाल तैयार रहेगा।
 

पर्यटन उद्योग को मिलेगा लाभ


नेपाल में चीनी राजदूत होऊ के मुताबिक नेपाल के त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विमानों का यातायात क्षमता से अधिक है इसलिए परिचालन संबंधी दिक्कतें आ रही थीं। अब यहां नए रनवे के पुनर्निर्माण के बाद विमानों की आवाजाही 21 घंटों तक  संचालित की जा सकेंगी, जिसका सीधा लाभ नेपाल के पर्यटन उद्योग को मिलेगा।