गोवा में मशहूर सनबर्न फेस्टिवल में ईडीएम तीन पर्यटकों की मौत

 

गोवा में चल रहे मशहूर सनबर्न फेस्टिवल में ईडीएम (इलेक्ट्रॉनिक डांस म्यूजिक) में एक और पर्यटक की मौत हो गई है। पर्यटक ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इसके साथ फेस्टिवल के दौरान मरने वालों की संख्या बढ़कर तीन हो गई है। इसने एक फेस्टिवल के दौरान उपलब्ध होने वाले ड्रग्स को लेकर राजनीतिक बहस शुरू कर दी है।
 

रविवार शाम को जिस पर्यटक की मौत हुई उसका नाम संदीप कोट्टा है जो बंगलूरू का रहने वाला था। वह गोवा के वागेटर बीच पर बेहोश हो गया था। जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया। पुलिस का कहना है कि अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि कोट्टा ने बेहोश होने से पहले बेचैनी की शिकायत की थी।

कोट्टा से पहले ईडीएम म्यूजिक स्थल में दो लोगों की मौत हो चुकी है। फेस्टिवल के पहले दिन आंध्र प्रदेश के रहने वाले दो दोस्त साईं प्रसाद मलयाला और वेंकट सत्यानारायण उस समय बेहोश होकर गिर गए थे जब वह फेस्टिवल के अंदर प्रवेश करने के लिए लाइन में खड़े थे। अस्पताल पहुंचने पर उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस को फिलहाल मौत की असल वजह का पता नहीं चला है लेकिन इसपर विवाद शुरू हो गया है। ऐसे में हम आपको बताते हैं कि सनबर्न फेस्टिवल क्या होता है।

क्या है सनबर्न फेस्टिवल


एशिया के सबसे बड़े म्यूजिक फेस्टिवल्स में से एक है- सनबर्न फेस्टिवल। हर साल 28 दिसंबर से 31 दिसंबर तक होने वाले इस फेस्टिवल में सबसे ज्यादा सैलानी आते हैं। सैलानियों में विदेशी भी शामिल होते हैं। यह फन और इंटरटेनमेंट से भरा इवेंट होता है। बड़ी संख्या में युवा नए साल का जश्न मनाने इस फेस्टिवल में पहुंचते हैं। इस फेस्टिवल में कई तरह के एडवेंचरों के साथ शराब पीना आम बात होती है।

सनबर्न फेस्टिवल में क्या होता है खास


डीजे और बैंड म्यूजिक: सनबर्न फेस्टिवल दुनिया के बेहतरीन म्यूजिक फेस्टिवलों में से एक है। इस फेस्टिवल में कई देशों से बैंड ग्रुप और डीजे ग्रुप पहुंचते हैं। युवा यहां लोक संगीत से लेकर रॉक म्यूजिक तक का आनंद उठाते हैं।
ऐक्वा रोलिंग: इस फेस्टिवल में ऐक्वा रोलर के बीच रोलिंग करना बेहद मजेदार अनुभव होता है। पूल में कूदने का मजा मिलता है।
ट्विन साइकिलिंग: सनबर्न फेस्टिवल में लोग ट्विन साइकिलिंग का आनंद उठाते हैं। इस मजेदार साइकिल पर खासकर प्रेमी युवा जोड़े एक साथ राइडिंग करते हैं। एलइडी लाइट्स से कवर इस साइकिल को दो साथी पैडल मार कर चलाते हुए घूमते हैं।
जंपिंग कासल: बाउसिंग कासल का मजा बच्चे ही नहीं, बड़े भी ले सकते हैं। इस फेस्टिवल में करीब 300 मीटर के मॉन्स्टर कासल पर कूदने का अलग ही आनंद होता है।
गुब्बारे में भ्रमण: हॉट एयर बैलून में घूमना यहां रोमांचक होता है। एडवेंचर पसंद लोग इसका मजा लेना नहीं भूलते। इसके अलावा फुटबॉल से गोल पर किक करने का भी गेम कराया जाता है।