क्रिसमस के अवसर पर देश में अमन की दुआ :प्रयागराज



 

यीशु के जन्म की खुशियों का मंगलवार की रात से शुरू हुआ सिलसिला सुबह भी जारी रहा। बुधवार को ऑल सेंट्स कैथिड्रल, सेंट जोसेफ कैथिड्रल सहित शहर के तमाम गिरजाघरों में धूमधाम से क्रिसमस उत्सव मनाया गया। विशेष प्रार्थना सभाओं में बिशप और पल्ली पुरोहित यीशु के जन्म के उद्देश्य बताने के साथ ही मानवता के कल्याण के लिए उनका संदेश बांटा। यीशु महिमा के गीतों के बीच मानवता के लिए उनके योगदान और समर्पण को याद करते हुए आपस में मिलजुल कर रहने, शांति, सद्भाव, प्रेम,  भाईचारा बनाए रखने की सीख दी गई। प्रार्थना के बाद 'मेरी क्रिसमस' कहकर सभी ने एक दूसरे को क्रिसमस की बधाइयां दीं। कैथिड्रल सहित तमाम गिरजाघरों के करीब या परिसर में क्रिमसस मेलों की भी धूम रही।




सिविल लाइंस स्थित आल सेंट्स कैथिड्रल की विशेष प्रार्थना सभा में चर्चेज ऑफ नार्थ इंडिया की लखनऊ डायोसिस के बिशप पीटर बलदेव ने प्रभु यीशु के जन्म की खुशियां बांटीं। कहा, यीशु किसी एक धर्म या जाति नहीं बल्कि संपूर्ण मानव जाति के कल्याण और उद्धार के लिए आए थे। उन्होंने कहा था, पाप से घृणा करो और पापियों को पश्चाताप का मौका दो ताकि वे अपनी गलतियां सुधार करके प्रेम की राह पर चलें। यीशु शैतान की शक्तियों को नष्ट करने के लिए दुनिया में आए। परमेश्वर ने जगत से प्रेम करते हुए कहा कि जो कोई उस पर विश्वास करेगा, उसका नाश नहीं होगा बल्कि वह अनंत जीवन पाएगा। अंत में देश में अमन-चैन और खुशहाली के लिए प्रार्थना की गई।




सेंट जोसेफ कैथिड्रल की विशेष प्रार्थना सभा में सहायक पल्ली पुरोहित फादर विकास जयसन ने मिस्सा बलिदान की आराधना की। बाइबिल पाठ के बाद यीशु के संदेश को साझा करते हुए उन्होंने कहा, यीशु ने समूची मानवता के कल्याण के लिए जन्म लिया। उन्होंने प्रेम तथा भाईचारे के साथ रहने की सीख दी। पल्ली पुरोहित फादर हेराल्ड की देखरेख में हुई आराधना सभा में फादर चार्ल्स बी अलमेडा, फादर अलेक्स डिसूजा, फादर जेरम डिसूजा आदि मौजूद थे। सेंट जोसेफ के प्रिंसिपल फादर थॉमस कुमार के नेतृत्व में कैथिड्रल की क्वाअर्स ने यीशु के जन्म केगीत सुनाकर खुशियां मनाई। प्रार्थना के बाद कॉफी और क्रिसमस केक के बीच लोगों ने एक दूसरे को मेरी क्रिसमस कहकर बधाइयां दीं और उज्ज्वल भविष्य एवं सुखमय जीवन की कामना की।




देर रात तक जारी रहा बधाइयों का दौर

क्रिसमस पर सेंट पीटर्स चर्च में पादरी प्रवीण मैसी, जमुना चर्च में पादरी लेडी डिकोस्टा, सेंट पाल्स चर्च में पादरी एसपी लाल, होली टिनिट्री चर्च में पादरी राजेश जोसेफ, सेंट्रल मैथाडिस्ट चर्च में पादरी अमिताभ राय आदि ने विशेष प्रार्थना सभा में यीशु का मानवता का संदेश सुनाया। कहा, यीशु के बताए रास्ते पर चलकर ही दुनिया में शांति आएगी। गिरजाघरों में देश की शांति के लिए विशेष प्रार्थनाएं की गई। सभाओं में हुई ऑफरिंग के बाद जरूरतमंदों के बीच केक सहित खाने-पीने की दूसरी चीजें तथा कपड़े आदि बांटे गए। शुभकामनाओं का दौर देर रात तक जारी रहा।



मोमबत्तियां जलाकर मांगा आशीष

ऑल सेंट्स कैथिड्रल और सेंट जोसेफ कैथिड्रल सहित तमाम गिरजाघरों के गेट पर जुटे श्रद्धालुओं विशेषकर युवाओं ने मोमबत्तियां जलाकर प्रार्थना की और आशीष मांगा। ऑल सेंट्स कैथिड्रल में अबकी ज्यादा भीड़ जुटने के कारण मुख्य द्वार को बंद कर दिया गया था, सो लोग कैथिड्रल के द्वार तक नहीं जा पाए, लिहाजा उन्होंने मुख्य द्वार पर ही मोमबत्तियां जलाईं।



एयरपोर्ट पर सेंटा क्लॉज ने बच्चों को बांटे उपहार

प्रयागराज। क्रिसमस के मौके पर प्रयागराज आने वाली विभिन्न फ्लाइट से आए बच्चों को एयरपोर्ट में सेंटा क्लॉज ने उपहार बांटे। इस दौरान उपहार पाकर बच्चों के चेहरे खिल गए। किसी को चॉकलेट मिला तो किसी को पेस्ट्री। सेंटा क्लॉज को एयरपोर्ट में देखकर बच्चे खूब चहके। तमाम बच्चों के साथ कुछ विदेशी यात्रियों ने सेंटा क्लॉज के साथ फोटो भी खिंचवाई।

क्रिसमस के अवसर पर एयरपोर्ट के सिविल टर्मिनल में आकर्षक सजावट भी की गई। एयरपोर्ट में क्रिसमस ट्री भी लगाया। रंग बिरंगी रोशनी से सजे क्रिसमस ट्री संग तमाम यात्रियों ने सेल्फी भी ली। इस दौरान एयरपोर्ट निदेशक सुनील यादव ने बच्चों से केक भी कटवाया। यहां सभी यात्रियों में क्रिसमस के केक का वितरण किया गया। इस अवसर पर विमानन कंपनी इंडिगो के विपुल काले, श्याम कार्तिक सिंह आदि कर्मचारी मौजूद रहे। एयरपोर्ट निदेशक सुनील यादव ने बताया कि टर्मिनल में सजावट नए वर्ष तक रहेगी। क्योंकि एक जनवरी को ही सिविल टर्मिनल की पहली वर्षगांठ है। इस अवसर पर भी एयरपोर्ट में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।




क्रिसमस मेलों में खूब उमड़े शहरी

मेलों के शहर में क्रिसमस पर एक बार फिर मेलों की धूम रही। बुधवार को सेंट जोसेफ कॉलेज परिसर के अतिरिक्त ऑल सेंट्स कैथिड्रल सहित शहर के तमाम गिरजाघरों में क्रिसमस मेले सजे। सर्दी को धता बताते हुए शहरियों खासकर युवाओं की टोलियां पूरे दिन मेलों का हिस्सा बनी रहीं। दोपहर बाद परिवार के साथ पहुंचे लोगों ने जमकर मेलों का लुत्फ लिया। मनोरंजन के तमाम साधनों के साथ बच्चों ने मौज की, वहीं साथ आए बड़ों ने भी मेले में खाने और खरीदारी का लुत्फ लिया।




मेलों में शहरी ऐसे उमड़े कि गिरजाघरों की ओर जाने वाले रास्तों पर जाम जैसी स्थिति बनी रही। ऑल सेंट्स कैथिड्रल की ओर जाने वाले रास्तों हाईकोर्ट के करीब आंबेडकर प्रतिमा स्थल, प्रधान डाकघर के सामने, हर्ष होटल के करीब और सिविल लाइंस थाने के करीब बैरिकेडिंग की गई थी। गाड़ियां दूर खड़ी करके लोग गिरजाघर तक पहुंचे, मोमबत्तियां जलाकर प्रार्थना की और फिर खानेपीने की तरह-तरह की चीजों का लुत्फ लिया। कैथिड्रल के चारों ओर खानेपीने और मनोरंजक खेलों के स्टाल लगाए गए थे।