प्रेमी के कहने पर छात्रा ने रच दी सामूहिक दुष्कर्म की फर्जी कहानी

 

 

 

हाथरस के मेंडू निवासी हिस्ट्रीशीटर अनिल के कहने पर आगरा के सिकंदरा की बीए की छात्रा ने चार युवकों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का फर्जी केस दर्ज करा दिया। आठ घंटे की जांच में सच्चाई सामने आ जाने पर छात्रा ने कुबूल कर लिया कि उसने अनिल के कहने पर तहरीर दी। अनिल पर 12 केस दर्ज हैं। इनमें से हत्या के एक मामले में जो चार युवक उसके खिलाफ पैरवी कर रहे हैं, छात्रा ने उन्हें ही नामजद कराया।

छात्रा ने दोपहर को फिरोजाबाद के पचोखरा के गांव गढ़ी जोरी स्थित मंदिर से यूपी-112 को फोन कर कहा था कि आगरा के कोचिंग जाते समय आगरा के खंदारी से बोलेरो कार में चार युवकों ने उसका अपहरण किया। वे उसके भाई के दोस्त हैं। उन्होंने कहा था कि भाई दुर्घटना में घायल हो गया है, साथ चलो, इसलिए चली गई थी।

उसके साथ एत्मादपुर में खेत में सामूहिक दुष्कर्म किया गया। पुलिस ने ज्ञानेंद्र कुमार, गीतम सिंह, राजा उर्फ रोबिन निवासी मेंडू हाथरस के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर ली थी। छात्रा का मेडिकल परीक्षण करा लिया था। आरोपियों के गांव दबिश दी तो चारों दुकान पर बैठे मिले। सर्विलांस पर उनकी लोकेशन गांव की ही मिली।

छात्रा के भाई ने कहा कि वे इन्हें जानता तक नहीं है। छात्रा की कॉल डिटेल में इसी गांव के अनिल का मोबाइल नंबर मिला। उसके बारे में जानकारी की तो वह हिस्ट्रीशीटर निकला। छात्रा ने जिन्हें नामजद कराया, उनसे उसकी रंजिश चल रही है। अनिल के परिचित की एक रिकार्डिंग मिली। इसमें वह कह रहा था कि चारों पर दुष्कर्म का फर्जी केस दर्ज कराएगा।

इस पर छात्रा से पूछताछ हुई तो उसने कुबूल कर लिया कि अनिल के कहने पर यह पूरा षणयंत्र रचा। पुलिस अब अनिल की तलाश कर रही है।

सामूहिक दुष्कर्म की घटना पूरी तरह फर्जी निकली है। छात्रा ने प्रेमी के कहने पर यह साजिश रची। उसके प्रेमी की तलाश की जा रही है