उपद्रवियों पर होगी सख्त कार्रवाई ,सीएम योगी ने राज्यपाल आनंदी बेन से की मुलाकात


उत्तर प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर बीते दो दिनों से जगह-जगह पर विरोध प्रदर्शन हो रहा है। राजधानी लखनऊ से लेकर पूरे प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर विरोध प्रदर्शन और हिंसा का माहौल है। 


एनआरसी मुद्दे को लेकर शनिवार सुबह प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात की। उम्मीद जताई जा रही है कि सीएम ने राज्यपाल से प्रदेश के मौजूदा हालात के संबंध में चर्चा की है।

मुलाकात के बाद सीएम योगी ने एक बार फिर कहा कि उपद्रवियो ंपर सख्त कार्रवाई की जाएगी। 


यूपी पुलिस की गिरफ्त में 400 उपद्रवी, डीजीपी बोले- हिंसा करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा


नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ चल रहा उग्र विरोध-प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के कई जिलों में हुए हिंसक प्रदर्शन में 13 लोगों की मौत हो गई, जिसमें एक आठ साल का बच्चा भी शामिल है। जानकारी के अनुसार मेरठ में चार, बिजनौर, कानपुर, संभल में दो-दो, मुजफ्फरनगर, फिरोजाबाद व वाराणसी में एक-एक की जान गई है। 



 आईजी कानून व्यवस्था ने आठ की मौत की पुष्टि की है। वहीं दिनभर यूपी के गोरखपुर, अलीगढ़, संभल, बिजनौर, शामली, सहारनपुर समेत प्रदेश के कई जिलों में प्रदर्शन हुए। यूपी में आज सभी शैक्षणिक संस्थाओं को बंद कर दिया गया है। भारी उपद्रव के चलते यूपी टीईटी की परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गईं हैं।

नागरिकता कानून के विरोध में देशभर में चल रहे प्रदर्शन के बीच मेरठ-मुजफ्फरनगर और बिजनौर में पुलिस प्रशासन ने पूरी तरह शांति व्यवस्था बना रखी है। इन तीनों शहरों में इंटरनेट सेवा बंद है और चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनात किया गया है। शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद मेरठ-मुजफ्फरनगर और बिजनौर में जमकर बवाल हुआ था। मेरठ में चार, बिजनौर में दो और मुजफ्फरनगर की गोली लगने से मौत हो गई थी।

वहीं, गाजियाबाद जिले के पांच थानों में 3600 लोगों पर केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने हंगामा करने के आरोप में इन लोगों पर केस दर्ज किया है। 400 से ज्यादा लोग नामजद भी इनमें शामिल हैं। पुलिस ने 65 लोगों को गिरफ्तार भी किया है।