आज से चलेगा अभियान तेजाब बिक्री का प्रशासन ने किया स्टिंग


छपाक फिल्म के बाद तेजाब बिक्री की हकीकत जानने के लिए प्रशासन ने सोमवार को स्टिंग कराया। इस स्टिंग में विभागीय महिलाओं ने अलग अलग दुकानों से तेजाब खरीदा। हालांकि, जांच में पता चला कि यह तेजाब फ्लोर क्लिनिंग के लिए था। लिहाजा, इनके खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाएगी। 


 

दरअसल, छपाक फिल्म के बाद एक बार फिर से तेजाब बिक्री का मामला गरमा गया है। इसको लेकर लोगों में भी जागरूकता बढ़ी तो उन्होंने अधिकारियों को भी जानकारी दी। बताया जा रहा है कि सोमवार को किसी ने जिलाधिकारी सी रविशंकर को इस संबंध में एसएमएस के जरिए जानकारी दी थी। इधर, पुलिस कप्तान डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने भी इस संबंध में छानबीन कर कार्रवाई के निर्देश दिए थे। 


पुलिस के साथ मिलकर अभियान चलाया जाएगा



इसी क्रम में मंगलवार को वन स्टॉप सेंटर के स्टाफ की महिलाएं शहर में इस सच्चाई को जानने निकलीं थी। महिलाओं की यह टीम अलग-अलग क्षेत्रों में गई और केमिकल शॉप पर तेजाब की मांग की। किसी ने 20 रुपये का तो किसी ने 50 रुपये का तेजाब मांगा। बिना किसी पूछताछ और जानकारी लिए उन्हें यह तेजाब आसानी से मिल भी गया।

यह स्टिंग सहारनपुर चौक, प्रिंस चौक, सर्वे चौक के पास आदि क्षेत्रों की दुकानों पर किया गया। जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अखिलेश कुमार मिश्रा ने बताया कि इस तेजाब की जांच कराई गई तो यह अधिक तीव्रता वाला नहीं था। प्राथमिक जांच में पता चला है कि इसकी बिक्री को लाइसेंस की भी आवश्यकता नहीं है। बुधवार को पुलिस के साथ मिलकर अभियान चलाया जाएगा।