बारिश-बर्फबारी, भारी हिमपात, के चलते यमुनोत्री हाईवे बंद,

 

राजधानी देहरादून में कल से शुरू हुई बारिश आज सुबह तक जारी रही। वहीं पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी की संभावना जताई है। हालांकि सोमवार को दिनभर रुक-रुक कर हुई बूंदाबांदी ने पहले ही ठंड बढ़ा दी थी। वहीं मौसम विभाग ने अगले दो दिन बारिश, ओलावृष्टि के साथ ही कोल्ड डे कंडीशन की चेतावनी जारी की है।
 

इसी प्रकार रुद्रप्रयाग जनपद में भी सोमवार रातभर बारिश हुई। केदारनाथ, मद्महेश्वर, तुंगनाथ, चोपता, त्रियुगीनारायण, तोषी आदि स्थानों पर बर्फबारी हुई है। जिले में सुबह से बादल छाए हुए हैं।बारिश-बर्फबारी के चलते यमुनोत्री हाईवे राडी टॉप व हनुमानचटटी से आगे बंद हो गया है। जिसके कारण यमुनोत्री क्षेत्र की गीठ पट्टी का तहसील कार्यालय व रवांई घाटी का जिला मुख्यालय से सम्पर्क कट गया है। हाईवे खोलने के प्रयास जारी हैं।

उत्तरकाशी जिले के अधिकांश हिस्सों में देर रात से बारिश का सिलसिला जारी है। जनपद के ऊंचाई वाले क्षेत्र एक बार फिर बर्फबारी से लकदक हो गए हैं। लगातार बारिश और बर्फबारी होने से शीतलहर का प्रकोप बढ़ गया है। पौड़ी और टिहरी में सोमवार रात से बारिश जारी है। टिहरी जिले के ऊंचाई वाले इलाकों में भी हिमपात हुआ है। श्रीनगर में हल्की बूंदाबांदी हो रही है। चमोली जिले में सुबह मौसम खराब रहा। देर रात तक बारिश और बर्फबारी से यहां जबरदस्त ठंड पड़ रही है। ठंड से बचने के लिए लोग घरों में दुबके हुए हैं।

मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि सात और आठ जनवरी को प्रदेशभर में बारिश, ओलावृष्टि और बर्फबारी होगी। सात जनवरी को देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर, पौड़ी और नैनीताल में ओलावृष्टि हो सकती है। आठ जनवरी को 2500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी बर्फबारी का रेड अलर्ट जारी किया गया है। अगले दो दिन प्रदेशभर में शीत दिवस रहने का अनुमान जताया गया है।

वहीं मौके पर पहुंची आदर्श मंडी थाना पुलिस ने लोगों को समझाने की कोशिश की लेकिन वे नहीं माने। अजय पाठक के रिश्तेदार, परिजन, और शहरवासी हर किसी ने मौके पर पहुंचे आदर्श मंडी थानाध्यक्ष और एएसपी राजेश श्रीवास्तव पर एक के बाद एक सवालों की झड़ी लगा दी।



आठवीं तक अब 12 जनवरी तक छुट्टी



शीतलहर के प्रकोप को देखते हुए जिलाधिकारी ने स्कूलों में आठवीं कक्षा तक शीतकालीन अवकाश की अवधि 12 जनवरी तक बढ़ा दी है। जबकि, कक्षा नौ से 12 तक की कक्षाएं पूर्व निर्धारित समयानुसार ही संचालित की जाएंगी। 

जिलाधिकारी सी रविशंकर ने बताया कि मौसम विभाग ने आठ जनवरी को भारी बर्फबारी और इसके बाद शीतलहर की चेतावनी जारी की है। मौजूदा समय में भी जिले में शीतलहर चल रही है। ऐसे में मुख्य शिक्षा अधिकारी के माध्यम से सभी सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में शीतकालीन अवकाश की अवधि बढ़ाई गई है।

सोमवार को मुख्य शिक्षा अधिकारी ने सीबीएसई, आईसीएसई और राज्य बोर्ड से मान्यता प्राप्त सभी स्कूलों को भी पत्र जारी कर शीतकालीन अवकाश बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। यदि इन आदेशों के बावजूद किसी भी स्कूल प्रबंधन ने कक्षा आठ तक की कक्षाएं संचालित करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई के निर्देश भी दिए गए हैं।