ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने सोमवार को शाही परिवार की आपात बैठक बुलाई


ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने सोमवार को शाही परिवार की निजी निवास नॉरफोक के शैनड्रिंघम एस्टेट में आपात बैठक बुलाई है। इसमें प्रिंस हैरी और उनकी पत्नी मेगन मर्केल के शाही विरासत छोड़ने पर पहली बार बात होगी। साथ ही युवराज हैरी और उनकी पत्नी मेगन मर्केल की आगामी भूमिकाओं पर चर्चा की जाएगी। यह बैठक ऐसे समय हो रही है जब हैरी और मेगन ने यह घोषणा कर सभी को चौंका दिया कि वे ब्रिटिश राजपरिवार की भूमिका से अलग हो रहे हैं।


 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ड्यूक ऑफ ससेक्स प्रिंस हैरी, उनके भाई ड्यूक ऑफ कैंब्रिज युवराज विलियम और उनके पिता प्रिंस ऑफ वेल्स चार्ल्स को इस बैठक में आमंत्रित किया गया है जबकि मेगन के इस चर्चा में कनाडा से फोन पर जुड़ने की उम्मीद है।

सोमवार को होने वाली इस बैठक को ‘शैनड्रिंघम समिट’ कहा जा रहा है। यह प्रिंस हैरी के शाही भूमिका से अलग होने का एलान करने के बाद पहला मौका होगा जब 93 वर्षीय महारानी की उनसे आमने-सामने मुलाकात होगी। शाही दंपति द्वारा बुधवार को घोषणा की गई थी कि वो शाही भूमिका से पीछे हटने के इच्छुक हैं और अपना वक्त ब्रिटेन व उत्तर अमेरिका के बीच व्यतीत करना चाहते हैं तथा आर्थिक रूप से स्वतंत्र बनना चाहते हैं।

खबर में कहा गया कि ऐसी उम्मीद की जा रही है कि इस बातचीत से शाही परिवार के साथ हैरी और मेगन के रिश्तों में नया मोड़ आएगा। महारानी जल्द से जल्द इस मामले को सुलझाना चाहती हैं। इसमें कहा गया कि इस बातचीत के दौरान कई मुश्किल चुनौतियों को सुलझाया जाएगा। यह बैठक उन प्रस्तावों पर परिवार द्वारा चर्चा का एक अवसर भी होगा जो राजमहल के पदाधिकारियों और ब्रिटिश व कनाडाई सरकार के प्रतिनिधियों के बीच हुए विमर्श के बाद तैयार किए गए हैं। ये प्रस्ताव इस संदर्भ में हैं कि मेगन (38) और हैरी (35) कैसे शाही परिवार से अलगाव के बाद अपनी नई प्रगतिशील भूमिका तैयार करेंगे।

इस दंपति ने कहा है कि नए ससेक्स रॉयल परमार्थ के जरिये उनकी लोगों की मदद जारी रखने की योजना है। इस परमार्थ संस्थान की शुरुआत उन्होंने पिछले साल जून में ड्यूक एंड डचेज ऑफ कैंब्रिज फाउंडेशन से अलग होने के बाद की थी।