हरियाणा की चार महिला पहलवानों समेत आठ पर प्रतिबंध,भारतीय कुश्ती संघ ने दिखाई सख्ती


नेशनल कैंप से गायब होने वाली महिला पहलवानों पर भारतीय कुश्ती संघ ने सख्ती दिखाई है। ट्रायल के बाद से नेशनल कैंप से गायब होने वाली 4 हरियाणवी समेत आठ महिला पहलवानों पर एक साल का प्रतिबंध लगाया गया है। यह महिला पहलवान एक साल तक कुश्ती की किसी भी प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं ले सकेंगी।


 

प्रतिबंध के आदेश भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष ब्रजभूषण शरण ने जारी किए हैं। भारतीय कुश्ती संघ ने पिछले साल सख्त आदेश जारी कर दिए थे कि नेशनल कैंप से गायब रहने वाले पहलवानों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। क्योंकि नेशनल कैंप से पहलवानों के गायब रहने से इसका असर उस भार वर्ग के दूसरे पहलवानों पर पड़ता है और उनकी प्रैक्टिस नहीं हो पाती है। इस तरह नेशनल कैंप लगाने का कोई फायदा नहीं होता है।

इसके बावजूद साऊथ एशियन गेम्स की पदक विजेता हरियाणा की रहने वाली निक्की, सुमन, रौनक, अंकुश के अलावा राजस्थान की शीतल तोमर, महाराष्ट्र की रेशमा माने व दिल्ली की सुषमा शौकीन, बंटी नेशनल कैंप से ट्रायल के बाद गायब हो गईं। इसलिए उन पर एक साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है।