मुकेश अंबानी अब 2022 तक चेयरमैन और सीएमडी बने रह सकते हैं हैं


दिग्गज कारोबारी मुकेश अंबानी अब दो और साल तक रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के चीफ मैनेजिंग डायरेक्टर (CMD) पद पर बने रह सकते हैं. दरअसल, सिक्योरिटिज और एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) के पूर्व आदेश के मुताबिक, कंपनी को चेयरमैन और प्रबंध निदेशक (एमडी) पदों को अलग करना था.  SEBI ने इसके लिए 1 अप्रैल तक की डेडलाइन भी दी थी, लेकिन अब यह डेडलाइन बढ़ाकर 2022 कर दी गई है.


सेबी ने बढ़ाई डेडलाइन


बता दें कि सेबी चाहता था कि टॉप कंपनियों में एमडी और चेयरमैन पद एक ही शख्स के पास न रहे। वहीं, कंपनियों ने अर्थव्यवस्था के हालात के मद्देनजर यह मांग की थी कि इस शर्त को लागू करने के लिए कुछ और वक्त दिया जाए. ऐसे में सेबी ने  चेयरमैन और MD के पद को अलग करने की डेडलाइन अब अप्रैल 2022 कर दी है.


अगर सेबी यह राहत न देता तो रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चीफ मैनेजिंग डायरेक्टर (सीएमडी) मुकेश अंबानी गैर-कार्यकारी अध्यक्ष बन जाते. वहीं कंपनी के इतिहास में पहली बार अंबानी परिवार से बाहर का कोई सदस्य रिलायंस का मैनेजिंग डायरेक्टर बन सकता था. फिलहाल अब मार्च 2022 तक मुकेश ही सीएमडी और चेयरमैन पद पर बने रहेंगे, इस बात की संभावना है.


मनोज मोदी समेत रेस में थे ये नाम


इससे पहले, इस बात की चर्चा थी कि रिलायंस के कार्यकारी निदेशक निखिल मेसवानी या मुकेश अंबानी के विश्वासपात्र एवं कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मनोज मोदी को एमडी की जिम्मेदारी मिल सकती है. इसके अलावा कंपनी के अन्य दो कार्यकारी निदेशक निखिल के छोटे भाई हितल और पी. एम. एस. प्रसाद का नामों पर भी चर्चा थी.




मेसवानी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड बोर्ड में 90 के दशक के मध्य से हैं और मुकेश अंबानी के चचेरे भाई हैं. जब धीरूभाई अंबानी ने RIL की स्थापना की तो उनके पिता रसिकलाल मेसवानी इसके संस्थापक निदेशकों में से एक थे.