प्रयागराज करने का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच


इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. इलाहाबाद हेरिटेज सोसायटी ने सुप्रीम कोर्ट में इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी है. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई करने वाली बेंच के सदस्य जस्टिस अशोक भूषण ने खुद को इससे अलग कर लिया है. अब अदालत की नई पीठ इस पर सुनवाई करेगी.


पिछले साल यूपी कैबिनेट ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने का फैसला किया था. फैसले को हरी झंडी मिलने के बाद इलाहाबाद आधिकारिक नाम प्रयागराज हो गया. बता दें, संतों ने इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को प्रस्ताव दिया था. इसके बाद यूपी के मुख्यमंत्री ने खुद प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका ऐलान किया था. इससे पहले फैजाबाद जिले का नाम अयोध्या करने का निर्णय लिया गया था जिसे बाद में पारित कर दिया गया था.


कुंभ मेले के आयोजन को लेकर हुई बैठक के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संगम नगरी इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने का ऐलान किया था. उन्होंने कहा कि संतों ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज रखने का सुझाव दिया था. तत्कालीन राज्यपाल राम नाईक ने इस प्रस्ताव पर सहमति जताई जिसके बाद इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया गया.