आयकर विभाग का एक दिहाड़ी मजदूर को नोटिस,2.59 लाख रुपये देने को कहा


ओडिशा के नंबारंगपुर जिले में एक दिहाड़ी मजदूर को जब आयकर विभाग का नोटिस मिला तो वह चौंक गया। विभाग ने उसे 1.47 करोड़ रुपये के बैंक लेन-देन करने की वजह से नोटिस जारी किया है। पीड़ित का नाम सनाधरा गंद है।


आयकर विभाग ने पुरजारीभरंडी गांव के निवासी सनाधरा को नोटिस भेजा है। जिसमें उसे 1.47 करोड़ का बैंक लेन-देन करने की वजह से 2.59 लाख रुपये देने को कहा गया है। पीड़ित ने कहा, 'मुझे आयकर विभाग का नोटिस मिला है। जिसमें मुझे 2.59 लाख रुपये देने को कहा गया है। मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा है। मैं यह टैक्स राशि कैसे भरुंगा।'

गंद ने कहा कि मैं मुश्किल से अपना खर्च चलाने के पैसे कमा पाता हूं। यह नोटिस उन्हें आकलन वर्ष 2014-15 के लिए भेजा गया है। उनका कहना है कि यह लेन-देन मेरे मालिक ने की हैं। उन्होंने कहा कि मेरे मालिक पप्पू अग्रवाल जो इसी गांव के हैं उन्होंने धोखे से कोरे कागज और जमीन के पट्टे पर मेरे हस्ताक्षर लिए थे।

सनाधरा ने कहा, 'मैं सात सालों से अग्रवाल के यहां काम कर रहा था। इस दौरान उसने मुझसे मेरे जमीन का पट्टा मांगा जो मैंने उसे दे दिया। मुझे नहीं पता कि उसने उसके साथ क्या किया। अब मुझे आईसीआईसीआई बैंक में की गई बड़ी राशि के लेन-देन के लिए आयकर विभाग से नोटिस मिला है।'