गार्गी कॉलेज का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा, CBI से जांच कराने की मांग


गार्गी कॉलेज का मामला अब सुप्रीम कोर्ट में पहुंच चुका है. वकील मनोहर लाल शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में गार्गी कॉलेज को लेकर जनहित याचिका दाखिल की है. इस जनहित याचिका में मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में सीबीआई से कराए जाने की मांग की गई है. दरअसल, 6 फरवरी की शाम को दिल्ली विश्वविद्यालय के गार्गी कॉलेज में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कॉलेज में छात्राओं के साथ अभद्रता की गई थी.


बता दें, गार्गी कॉलेज में आयोजित फेस्ट में जुबिन नौटियाल का शो आयोजित किया गया था. इसी शो के दौरान छात्राओं से अभद्रता की गई. अभद्रता करने वाले हुड़दंगी कॉलेज की दीवार फांद कर जबरदस्ती कॉलेज परिसर में दाखिल हुए और छात्राओं से छेड़छाड़ की. कई आरोपियों ने तो कॉलेज के बाहर मेट्रो स्टेशन तक गार्गी कॉलेज की छात्राओं का पीछा किया.


छात्राओं के साथ हुई छेड़छाड़ का मामला सोमवार को संसद में भी उठाया गया. संसद में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने इस मसले पर सरकार की स्थिति स्पष्ट की. केंद्र सरकार ने कॉलेज से छात्राओं की सुरक्षा के मुद्दे पर जवाब भी तलब किया है. दिल्ली पुलिस ने भी इस प्रकरण में एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है. सोमवार को संसद में विपक्ष की ओर से यह मुद्दा उठाया गया.



 


उधर आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को मांग की कि गार्गी कॉलेज की छात्राओं से दुर्व्यवहार करने वालों को सख्त सजा दी जानी चाहिए. उन्होंने कॉलेज में छात्राओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की. उन्होंने हिंदी में ट्वीट करते हुए इस घटना को 'दुखद और निराशाजनक' बताया. महिला कॉलेज की छात्राओं से दुर्व्यवहार, हाथापाई और उनका यौन उत्पीड़न किया गया था.