गुस्साए अभिभावकों ने बद्दी दुष्कर्म मामले में किया प्रदर्शन, बंद करवाया स्कूल

हिमाचल के सोलन जिले के बद्दी इंटरनेशनल स्कूल में चार साल की अबोध छात्रा के साथ हुए दुष्कर्म के बाद गुस्साए अभिभावकों ने सोमवार को स्कूल में हंगामा किया। 

अभिभावकों ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की और स्कूल को बंद करवा दिया। सोमवार सुबह ही दर्जनों अभिभावक स्कूल के मुख्य गेट पर पहुंच गए। इनके गुस्से का गुबार जब फूटा, जब स्कूल प्रबंधन से कोई उनसे बात करने नहीं आया। इनसे बात करने के लिए महिला अध्यापकों को आगे कर दिया गया। परिजनों का आरोप है कि स्कूल परिसर में लगाए सीसीटीवी कैमरे सही ढंग से काम नहीं कर रहे हैं। सुरक्षा के नाम पर खानापूर्ति ही की है।
 

गोपाल दुबे, दीपक मंजला, छिंदा सिंह, अनु शर्मा, रमन, अमरीक सिंह, अशोक, गोपाल और अजय शर्मा समेत सैकड़ों लोगों ने स्कूल परिसर के बाहर धरना प्रदर्शन किया। आरोप लगाया कि स्कूल प्रबंधन इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी परिजनों से बात करने नहीं पहुंचा। कहा कि जब तक स्कूल प्रबंधन समिति के लोग बातचीत के लिए आगे नहीं आते, तब तक स्कूल नहीं खुलने दिया जाएगा। जल्द स्कूल परिसर में पेरेंट्स टीचर मीटिंग बुलाई जाए। इसमें स्कूल प्रबंधकों और अभिभावकों के बीच सीधा संवाद होगा। 


हिमाचल के सोलन जिले के बद्दी इंटरनेशनल स्कूल में चार साल की अबोध छात्रा के साथ हुए दुष्कर्म के बाद गुस्साए अभिभावकों ने सोमवार को स्कूल में हंगामा किया। 

 

बोले, बसों में नाबालिग ड्राइवर और कंडक्टर 



अभिभावकों ने आरोप लगाया कि स्कूल में छोटे बच्चों की सुरक्षा का जिम्मा नाबालिगों के हाथ में दिया है। स्कूल प्रबंधन ने बसों में नाबालिग ड्राइवर-कंडक्टर नियुक्त किए हैं। उन्होंने जिला प्रशासन से स्कूल प्रबंधन के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। कहा कि स्कूल प्रबंधन के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज होना चाहिए। 

यह था पूरा मामला 
स्कूल बस के ड्राइवर निरंजन पर बीते शनिवार को एक चार की बच्ची के साथ दुष्कर्म का आरोप लगा था। इसके बाद आरोपी को हरियाणा पुलिस ने गिरफ्तार किया। युवक हरियाणा पुलिस की गिरफ्त में है। पुलिस इसे रिमांड पर लेकर जानकारी जुटा रही है। इस घटना के लिए प्रयुक्त बस को भी हरियाणा पुलिस ने कब्जे में लिया है।

जल्द बुलाएंगे पीटीएम 
स्कूल अध्यापिका रिशु अरोड़ा ने कहा कि गाड़ी में सीसीटीवी कैमरे लगे थे। उसी के आधार पर ड्राइवर को पकड़ा गया है। उन्होंने अभिभावकों की मांगें सुनीं। आश्वासन दिया कि स्कूल प्रबंधकों के समक्ष सारी बातें रखी जाएंगी। जल्द पीटीएम बुलाई जाएगी।