जीशान अय्यूब ने शरजील इमाम को लेकर बोली ये बड़ी बात, कहा- 'देशद्रोह का केस ज्यादा



बॉलीवु़ड अभिनेता जीशान अय्यूब फिल्मों के अलावा सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों पर अपनी राय रखने के लिए भी चर्चा में रहते हैं। वह लंबे समय से सीएए और एनआरसी का विरोध कर रहे हैं। इतना ही नहीं जीशान अय्यूब सरकार के कई फैसलों पर भी सवाल उठा चुके हैं। इस बीच उन्होंने देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार शरजील इमाम को लेकर जीशान अय्यूब ने बड़ी बात बोली है जिसकी काफी चर्चा हो रही है। 




दरअसल, जीशान अय्यूब हाल ही में एक मीडिया इवेंट में पहुंचे। यहां उन्होंने अपनी फिल्मों के अलावा सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों पर ढेर सारी बाते कीं। देश की सरकार पर सवाल खड़े करते हुए जीशान अय्यूब ने कहा कि विचाराधारा की बात पांच-दस साल की नहीं है। यह बहुत पहले से चला आ रहा है। हमारी सत्ताधारी सरकार दक्षिणपंथी विचारधारा वाली है। सरकार खुद भी इस बात को मानती है और सीएए इस विचारधारा से आया है। 




शरजील इमान के बारे बात करते हुए कहा कि,शरजील इमान ने जो किया उसके लिए उसे गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन देशद्रोह का केस मुझे ज्यादा लगता है। इसके अलावा जीशान अय्यूब ने शाहीन बाग में चले प्रदर्शन के बारे में भी ढेर सारी बाते कीं। अभिनेता ने कहा कि प्रदर्शन करने का हक हर किसी को है। प्रदर्शन वाली जगह में हिंसा की जो भी घटनाएं हुई है वो दूसरी विचारधारा के लोगों ने की है। सोशल मीडिया पर जीशान अय्यूब के इस बयान की काफी चर्चा हो रही है। 




हाल ही में जीशान अय्यूब उत्तर प्रदेश में मंदिर निर्माण पर ट्वीट करने की वजह से सुर्खियों में थे। जीशान अय्यूब ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर लिखा, 'पहले उत्तर प्रदेश को नर्क बना रहे हैं, फिर मंदिर बना के ठीक करेंगे।' जीशान अय्यूब के इस ट्वीट पर गायिका मालिनी अवस्थी पलटवार किया। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'इनके मन में दबी बैठी नफरत और असहिष्णुता इनके ट्वीट पर उतर आई है. भाषा देखिये, विचार देखिये, और ये एक कलाकार हैं।' मालिनी अवस्थी के इस ट्वीट पर तमाम सोशल मीडिया यूजर्स अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।




आपको बता दें कि जीशान अय्यूब बॉलीवुड की कई फिल्मों में अपने अभिनय से दर्शकों के बीच खास जगह बनाई है। जीशान ने 'रईस', 'तनु वेड्स मनु', 'मणिकर्णिका', 'ट्यूबलाइट', 'जीरो' और 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' जैसी फिल्मों की फिल्मों में काम किया है। बीते दिनों जीशान अय्यूब  NRC और नागरिकता कानून (CAA) का विरोध करने की वजह से काफी सुर्खियों में थे। दिल्ली स्थित जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के छात्र नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे। इस बीच जामिया विश्वविद्यालय में NRC और नागरिकता संशोधन कानून (CAB) के विरोध प्रदर्शन में हुई हिंसा में डेढ़ दर्जन से ज्यादा छात्र घायल हो गए और कई छात्रों को हिरासत में भी लिया गया था।