महाभियोग की अंतिम सुनवाई के लिए बहस शुरू,ट्रंप के बरी होने की उम्मीद


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्रवाई के लिए अंतिम बहस सोमवार को शुरू हो गई, इस बहस के बाद उनके बरी हो जाने की उम्मीद है। इससे पहले शुक्रवार को रिपब्लिकन पार्टी के बहुमत वाली अमेरिकी संसद के उच्च सदन (सीनेट) ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के विरुद्ध महाभियोग मुकदमे के लिए नए गवाहों और दस्तावेजों को पेश करने वाले डेमोक्रेट पार्टी के प्रस्ताव को मामूली अंतर से खारिज कर दिया था। 


राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ डेमोक्रेट सांसदों ने नए गवाहों को पेश करने की अनुमति मांगी थी ताकि पूर्व एनएसए बोल्टन की यूक्रेन की मदद रोकने के संबंध में गवाही कराई जा सके। लेकिन विपक्ष के इस प्रस्ताव पर रोक के लिए 51 मत पड़े जबकि पक्ष में 49 मत डाले गए। 100 सदस्यों वाली सीनेट में रिपब्लिकनों के पास 53 और डेमोक्रेटों के पास 47 सीटें हैं। डेमोक्रेट्स को व्हाइट हाउस से ट्रम्प को हटाने के लिए 67 मतों की आवश्यकता है।

इसके बाद सीनेट के अगले सप्ताह की शुरुआत में ट्रम्प को आरोपों से बरी करने की संभावना है। ट्रम्प का चार फरवरी को अपना तीसरा ‘स्टेट ऑफ द यूनियन एड्रेस’ (दोनों सदनों के संयुक्त सत्र के लिए राष्ट्रपति द्वारा दिया वार्षिक संबोधन) देने का कार्यक्रम है।

ट्रंप पर अपने पद का दुरुपयोग करते हुए अमेरिका के मित्र राष्ट्र यूक्रेन पर जो बिडेन के खिलाफ जांच शुरू करने की घोषणा करने का दबाव बनाने के आरोप में दिसंबर में महाभियोग की कार्रवाई शुरू की गई थी।
बिडेन आयोवा कॉकस के उम्मीदवारों में शामिल हैं। कॉकस डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार का चयन करता है और यह चुनावी प्रक्रिया की आधिकारिक शुरुआत होती है।
 


 


बोल्टन की गवाही को उत्सुक थे डेमोक्रेट


डेमोक्रेट पार्टी के सांसद पूर्व अमेरिकी सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) जॉन बोल्टन को सुनने के लिए उत्सुक थे, जिन्होंने अपनी आगामी पुस्तक में दावा किया है कि ट्रंप ने निजी तौर पर उनसे यूक्रेन को सैन्य मदद रोकने के लिए कहा था। ऐसा इसलिए ताकि यूक्रेन को ट्रंप के डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन की जांच करने के लिए बाध्य किया जा सके।