पंजाब के अमृतसर से 194 किलोग्राम हेरोइन की बरामदगी मामले में अब कांग्रेस पार्षद का नाम भी आया सामने


पंजाब के अमृतसर से 194 किलोग्राम हेरोइन की बरामदगी मामले में अब कांग्रेस पार्षद का नाम भी जुड़ गया है। स्पेशल टास्क फोर्स(एसआईटी) की जांच में सामने आया है कि बरामद की गई हेरोइन की खेप मजीठा रोड स्थित कोठी में रखने से पहले कांग्रेस के पार्षद प्रदीप शर्मा की छेहरटा स्थित कोठी में रखी गई थी।


इसके बाद एसटीएफ ने प्रदीप शर्मा और उसके बेटे साहिल शर्मा को जांच में शामिल होने के लिए बुलाया था। सोमवार को प्रदीप शर्मा एसआईटी के सामने पेश हुए। जानकारी के अनुसार एसटीएफ ने प्रदीप शर्मा से उनकी मजीठा स्थित कोठी में रखी हेरोइन की खेप के बारे में पूछा। प्रदीप शर्मा ने बताया कि वह 12 साल से अपनी पत्नी से अलग रह रहा है।

मजीठा रोड स्थित कोठी में उसकी पत्नी बेटे साहिल के साथ रहती है। इसके बाद एसटीएफ ने प्रदीप से साहिल के बारे में पूछा, जिस पर उसने कहा कि साहिल कहां हैं, इस बात की जानकारी उसे नहीं है। पुलिस साहिल को गिरफ्तार करने के लिए लगातार छापामारी कर रही है। पुलिस ने इस मामले में प्रदीप शर्मा के कुछ नजदीकियों को भी हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है।

जानकारी के अनुसार अकाली नेता अनवर मसीह भूमिगत हो गया है। एसटीएफ ने अनवर मसीह की खरड़ स्थित कोठी में छापामारी के दौरान कुछ दस्तावेज कब्जे में लिए हैं। साथ ही खरड़ की कोठी में रखी अनवर मसीह की फॉर्च्यूनर गाड़ी को भी एसटीएफ ने अपने कब्जे में लिया है।

सूत्रों के अनुसार एसटीएफ की टीम को जांच में जानकारी मिली है कि हीरोइन की खेप दो महीने पहले ही अमृतसर पहुंच गई थी। शुरुआत में इसे छेहरटा की एक कोठी में रखा गया था जो किसी कांग्रेसी पार्षद के नाम पर है। आरोप है कि यह खेप साहिल शर्मा के कहने पर सुरक्षित रखवाई गई थी। डीएसपी वविंदर महाजन ने बताया कि सारे मामले में 12 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है।