यूपी बोर्ड की दसवीं और बारहवीं कॉपियों के मूल्यांकन टल जाएगा कोरोना वायरस के चलते

यूपी बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं खत्म हो गई हैं। कॉपियों के मूल्यांकन की प्रक्रिया 16 मार्च से शुरू होगी। यानी मूल्यांकन के लिए अब बस दो दिन बाकी हैं। बता दें, कॉपियों के मूल्यांकन के लिए लखनऊ में चार केंद्र बनाए गए हैं, जिसमें 10वीं और 12वीं की कॉपियां जांची जाएंगी।
 

कोरोना वायरस, जिसके कारण पूरी दुनिया दहशत में है, के चलते हर राज्य की सरकार सावधानी बरतने की सलाह दे रही है। इसके अलावा बड़े-बड़े कदम सरकार द्वारा उठाए जा रहे हैं। सवाल यह है कि क्या कोरोना वायरस की वजह से मूल्यांकन प्रक्रिया प्रभावित हो सकती है? 

इस विषय पर माध्यमिक शिक्षा की प्रमुख सचिव आराधना शुक्ला ने अहम जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के चलते स्कूलों में हुई छुट्टी का असर माध्यमिक स्तर के स्कूलों की घरेलू परीक्षाओं पर नहीं पड़ेगा। वहीं 16 अप्रैल से यूपी बोर्ड परीक्षाओं का मूल्यांकन भी पहले से तय कार्यकम के तहत होगा।

उम्मीद जताई जा रही है कि यूपी बोर्ड के दसवीं और 12वीं कक्षा के परीक्षाओं का परिणाम 24 अप्रैल को जारी किया जा सकता है।


साल 2019 के मुकाबले इस बार बोर्ड की परीक्षाएं जल्दी खत्म हो गई हैं और ऐसे में रिजल्ट भी जल्दी ही घोषित किया जाएगा।


हालांकि, अभी कॉपियों के जांच के लिए परीक्षकों की सूची जारी नहीं हुई है और जल्द ही बोर्ड की तरफ से यह सूची जारी कर दी जाएगी। 


दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षाओं की कॉपियों के जांच के लिए जो चार मूल्यांकन केंद्र  बनाए गए हैं वो- गवर्नमेंट जुबली इंटर कॉलेज, सिटी स्टेशन रोड, गवर्नमेंट हुसैनाबाद इंटर कॉलेज चौक, गवर्नमेंट निशातगंज इंटर कॉलेज और  अमीनाबाद इंटर कॉलेज हैं।