जमातियों ने अस्पताल में नर्सों से की अभद्रता, डॉक्टरों को दी धमकी

गाजियाबाद में कोरोना संक्रमण से बचाव कार्य में जुटे चिकित्सा व पुलिस विभाग के कर्मचारियों पर देशभर में हमले के मामलों के बीच शर्मसार करने वाली एक घटना गाजियाबाद में भी हुई। जिला एमएमजी अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती जमातियों ने स्टाफ नर्सों से न केवल अभद्रता की बल्कि डॉक्टरों को धमकी भी दी।
 

घटना के बाद जिला अस्पताल में हंगामा हो गया। सीएमएस ने डीएम और एसएसपी को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की, जिसके बाद जमातियों के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

जिला अस्पताल के अधिकारियों के मुताबिक आरोपी जमाती आइसोलेशन के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं और स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं। सभी लोग नर्सों की मौजूदगी में ही कपड़े उतार देते हैं, जबकि कपड़े बदलने के लिए वॉर्ड में बाथरूम बना हुआ है।

ऐसा करने से मना करने पर नर्सों के साथ अश्लीलता की जा रही है। जमातियों द्वारा की गई इस शर्मनाक घटना के बाद जिला अस्पताल में हंगामा हो गया। बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद स्टाफ नर्सों ने आइसोलेशन वार्ड में जाने से साफ इनकार कर दिया। हंगामा बढ़ा तो पुलिस प्रशासन और चिकित्सा विभाग के अधिकारी जिला अस्पताल पहुंच गए।


मांग रहे बीड़ी- सिगरेट, सुन रहे अश्लील गाने



सीएमएस के पत्र के मुताबिक आइसोलेशन वार्ड में भर्ती जमातियों द्वारा स्टाफ नर्सों व अन्य कर्मचारियों से बीड़ी सिगरेट की मांग की जा रही है वही उक्त लोग स्टाफ नर्सों के सामने अश्लील गाने सुन रहे हैं।

सीएमएस ने घटना के संबंध में नगर कोतवाली में तहरीर देकर डीएम व एसएसपी को भी पत्र भेजा है। नगर कोतवाल विष्णु कौशिक ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ  अश्लीलता धमकी देने और सरकारी कार्य में बाधा डालने का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

सीएमओ डॉ. एनके गुप्ता ने बताया कि इनमें से 90 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे जा चुके हैं और अन्य के सैंपल भी लिए जा रहे हैं। पुलिस ने स्वास्थ्य विभाग को पसौंड़ा क्षेत्र के 23 व साहिबाबाद के तीन लोगों की सूची सौंपी है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कई जमाती ऐसे हैं जो जमात में शामिल होने से इंकार कर रहे थे तो उन्हें पुलिस की मदद से उठाया गया।




क्वारंटीन सेंटर में तैनात की गई पुलिस



जिला एमएमजी अस्पताल के आइसोलेशन वॉर्ड में जमातियों के हंगामा किए जाने की सूचना पर वॉर्ड के बाहर पुलिस तैनात कर दी गई है। अस्पताल के सीएमएस डॉ. रविंद्र राणा ने बताया कि भर्ती लोगों के परिजनों से उनके व्यवहार में सुधार लाने के लिए कहा गया लेकिन इस पर भी उन्होंने अभद्रता की।

सीएमएस ने बताया कि किसी भी जमाती में कोरोना के लक्षण नहीं हैं। वहीं संयुक्त अस्पताल में भर्ती 5 जमातियों के द्वारा किसी तरह का हंगामा करने की शिकायत नहीं है। सुंदरदीप कॉलेज में जमाती नियमों का पालन नहीं कर रहे थेए जिसके चलते वॉर्ड के बाहर पुलिस तैनात की गई है।



 

 

Popular posts
प्रदेश में दो मरीजों में डेल्टा प्लस वेरिएंट होने की पुष्टि हुई
Image
उत्तर प्रदेश टीकाकरण के मामले में पहूंचा पहले स्थान पर, जबकी महाराष्ट्र दूसरे स्थान पर
Image
अगर आपके पास है ये तीन नोट तो आपको मिलेंगे 1 लाख रुपए, हर नोट की है अलग कीमत.. फटाफट चेक करें डिटेल
Image
एक्सक्लूसिव : पूर्वी यमुना नहर सूखी, 15 दिन से नहीं पानी, पांच जिलों के एक लाख किसानों की फसल पर संकट
Image
सावधान! लखनऊ में पुल‍िस की वर्दी में घूम रहे टप्‍पेबाज, दो मह‍िलाएं फ‍िर हुईं ठगी का श‍िकार, तालकटोरा और आशियाना क्षेत्र में लूट और हत्या का भय दिखाकर की वारदात
Image