कोरोना 'हॉटस्पॉट', मुंबई चरम पर मरीज 1500 के पार, अगले पांच दिन अहम

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई पर कोरोना का कहर चरम पर है। संक्रमितों का आंकड़ा डेढ़ हजार पार करने के बाद मुंबई देश के लिए कोरोना का हॉटस्पॉट बन चुका है। बीते 24 घंटे के भीतर 224 मामले सामने आने और 10 लोगों की मौत के बाद हालात चिंताजनक हो गए हैं।
 

एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी में 28 मरीज मिलने और तीन मौतों के बाद अधिकारियों के होश उड़े हुए हैं। डर है कि वायरस और आक्रामक हुआ तो पूरी मुंबई उसकी गिरफ्त में आ जाएगी। मुंबई महानगर पालिका परिषद (बीएमसी) और स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, मुंबई में पिछले दो दिनों से रोजाना 100 से अधिक मरीज मिल रहे हैं। ये वायरस का प्रकोप तेजी से बढ़ने का सूचक है।

उम्मीद है कि आने वाले समय में इसमें कमी आएगी। वहीं कुछ अधिकारियों का मानना है कि अगले पांच दिन पूरी मुंबई के लिए अहम हैं। ये संभावना जताई जा रही है कि अगले पांच-छह दिनों में रोजाना 200 से 300 मामले सामने आएंगे। यही हालात अगर लगातार दस दिन तक बने रहे तो मुंबई में इटली और न्यूयॉर्क जैसे हालात हो जाएंगे।


रोजाना हो रही 1500 से अधिक जांच



बीएमसी रोजाना 1500 से अधिक जांच कर रहा है। इसी तरह लॉकडाउन का उल्लंघन करने के मामले में कुल 1930 लोगों पर केस दर्ज किया गया है। ये सभी लोग बिना काम के सड़क पर अपने वाहनों से निकले थे।




धारावी में साढे़ सात लाख की होगी स्क्रीनिंग



150 डॉक्टरों की टीम मिशन धारावी शुरू करेगी। धारावी में रहने वाले साढ़े सात लाख से अधिक लोगों की 10-12 दिन में स्क्रीनिंग होगी। वहीं, ड्रोन की सहायता से धारावी को सैनिटाइजेशन करने का प्रयत्न किया जाएगा।