पहली महिला फाइटर पायलट अवनी चतुर्वेदी परिणय सूत्र में बंधीं



भारत की पहली महिला फाइटर पायलट अवनी चतुवर्दी परिणय सूत्र में बंध गईं। देश की पहली तीन महिला फाइटर पायलटों में एक अवनी चतुर्वेदी हैं। समलाखा निवासी फ्लाइंग लेफ्टिनेंट विनीत छिकारा के साथ मध्यप्रदेश में मंगलवार को उनका विवाह हुआ और गुरुवार को ससुराल पहुंचीं जहां नवदंपती को बधाई देने के लिए आसपास के लोग पहुंचे और उन्हें शुभकामनाएं दीं। 
 

समालखा के वार्ड-10 निवासी हरियाणा पुलिस में सब इंस्पेक्टर दयांनद छिकारा के बेटे विनीत छिकारा वायुसेना में फ्लाइंग लेफ्टिनेंट हैं। मंगलवार को विनीत और अवनी का विवाह मध्य प्रदेश के रीवा में संपन्न हुआ। दुल्हन की विदाई के बाद गुरुवार को नवदंपती समालखा पहुंचे।

आस पड़ोस के लोगों ने उनका स्वागत किया। मंगल गीत गाए और नवदंपती को आशीर्वाद दिया। मध्य प्रदेश के रीवा निवासी सिंचाई विभाग के एक्सईएन दिनकर चतुर्वेदी की बेटी अवनी ने देश की पहली फाइटर पायलट बनकर नारी सशक्तीकरण का उदाहरण पेश किया है।