गौरव चंदेल हत्याकांड का कनेक्शन गाजियाबाद से जुड़े


 

नोएडा के बहुचर्चित गौरव चंदेल हत्याकांड का कनेक्शन गाजियाबाद से जुड़ गया है। हत्या के नौ दिन बाद गौरव चंदेल की कार को मंगलवार रात हत्यारे मसूरी थानाक्षेत्र के आकाश नगर में खड़ी करके भाग गए। हालांकि अब ये बात सामने आ रही है कि कार में कौन से अहम सबूत मिले हैं और कार को लेकर वहां क्या-क्या अफवाह फैलाई गई....




रिटायर्ड पुलिसकर्मी ने दी कार की सूचना
आकाश नगर निवासी जगबीर सिंह नेहरा रिटायर्ड पुलिसकर्मी हैं। उन्होंने रात करीब साढ़े 10 बजे सेल्टोस कार लावारिस हाल में खड़ी देखी। कुछ देर इंतजार के बाद कंट्रोल रूम पर सूचना दी। मसूरी पुलिस पहुंची। कार पर नंबर प्लेट न होने के कारण दो सिपाही निगरानी के लिए खड़े कर दिए गए। रातभर किसी केन आने पर सुबह आठ बजे फिर से पड़ताल शुरू कर दी गई। कार पर गौर सिटी के पार्किंग स्टीकर नंबर के आधार पर पड़ताल की तो कार गौरव चंदेल की निकली। इसके बाद नोएडा पुलिस को सूचना दी गई।




रात साढ़े 10 बजे कार लेकर आए हत्यारे, दूसरी कार में गए
गौरव चंदेल की कार आकाश नगर में मुख्य रास्ते पर खड़ी की गई। घटनास्थल से करीब 200 मीटर दूर लगे सीसीटीवी कैमरे खंगालने पर गौरव की कार मंगलवार रात 10.34 बजे आती दिखाई दी। उसके पीछे सफेद रंग की दूसरी कार भी थी। अंदेशा जताया जा रहा है कि बदमाश कार खड़ी करने के बाद सफेद रंग की दूसरी कार में बैठकर भागे होंगे।




शॉपिंग की पर्चियां, गुटखे का रैपर मिला
फोरेंसिंक टीम व डॉग स्क्वॉड ने कार की पड़़ताल की तो उसमें नोएडा के एक मॉल में की गई शॉपिंग की पर्चियां और ड्राइवर साइड की खिड़की में गुटखे का रैपर मिला। खिड़की पर गुटखा थूकने के निशान भी मिले। इसके अलावा खिड़की के हत्थे पर धूल भी जमी थी, जिससे अंदेशा जताया जा रहा है कि कार को कहीं खड़ा किया हुआ था।




जरूर शामिल होगा कोई स्थानीय व्यक्ति 
जिस जगह कार मिली, वह हापुड़ रोड से करीब एक किमी दूर अंदर की तरफ है। तीन मोड़ पार करने के बाद उस स्थान पर पहुंचा जा सकता है। कार लेकर आए हत्यारों को आकाश नगर के रास्तों की जानकारी थी। लिहाजा अंदेशा है कि हत्याकांड में कोई स्थानीय व्यक्ति शामिल हो सकता है।



कार में बम है क्या... लोगों में फैली दहशत
सुबह होते ही लावारिस कार को पुलिस फोर्स ने घेर लिया। तमाम अधिकारी मौके पर पहुंचे और डॉग स्क्वॉड व फोरेंसिक टीम ने बारीकी से जांच की। हलचल देखकर लोग दहशत में आ गए। लोगों ने सोचा कि कहीं कार में बम तो नहीं रखा है। हालांकि, बाद में घटना का पता लगने पर लोगों ने राहत की सांस ली।